Connect with us

स्वास्थ्य

वजन मैनेज करने के लिए कैसा होना चाहिए आपका नाश्ता, पढ़िए 2 मिनट में…

Published

on

नई दिल्ली : अपने दिन की शुरुआत भरपूर नाश्ते के साथ करने वाले लोगों का वजन कम होने की संभावना जताते हुए वैज्ञानिकों ने सदियों पुरानी इस कहावत पर मुहर लगाई है कि सुबह का नाश्ता राजा की तरह करना चाहिए और रात का खाना फकीर की तरह. पचास हजार लोगों पर कराये गये एक अध्ययन में यह बात सामने आई कि दिनभर में सुबह के नाश्ते के समय सबसे ज्यादा आहार लेने वाले लोगों का बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) उन लोगों की तुलना में कम होता है जो दिनभर कम खाने के बाद रात को छक कर खाते हैं जबकि दोनों ही तरह के लोग पूरे दिन में एक समान कैलोरी की खपत करते हैं.

अमेरिका में लोमा लिंडा यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के अनुसंधानकर्ताओं ने यह भी पता लगाया कि नाश्ते और रात के भोजन के बीच वक्त अधिक होने का संबंध भी कम बीएमआई से है. जर्नल ऑफ न्यूट्रीशन में प्रकाशित अध्ययन की मुख्य लेखिका हाना काहलेओवा ने कहा, ‘‘भारी नाश्ता करने से भूख, खासतौर पर मिठाइयों और वसा बढ़ाने वाली चीजों की लालसा कम होती है और इससे वजन बढ़ने पर रोक लगती है.’’ काहलेओवा ने ‘द टेलीग्राफ’ को बताया, ‘‘नियमित सुबह का नाश्ता लेने से तृप्ति बढ़ती है, कुल ऊर्जा खपत कम होती है, समग्र आहार गुणवत्ता में सुधार आता है, ब्लड लिपिड कम होता है और इंसुलिन सेंसिटिविटी और ग्लूकोज टॉलरेंस में सुधार होता है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘दूसरी तरफ शाम के वक्त अधिक खाने से इसके विपरीत प्रभाव होते हैं और इनसे शरीर के वजन पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है.’’

वैज्ञानिकों का कहना है कि लोगों को स्वस्थ और उचित वजन के लिए सुबह का नाश्ता और दोपहर का भोजन करना चाहिए, देर रात के खाने को छोड़ देना चाहिए, स्नैक्स से बचना चाहिए, दिनभर में सबसे ज्यादा आहार सुबह के नाश्ते में लेना चाहिए और रात में कम से कम 18 घंटे तक कुछ नहीं खाना चाहिए.

next

Follow me in social media

स्वास्थ्य

रखना है खुद को फिट तो ध्यान रखें ये टिप्स, 2 मिनट में जानें अच्छी सेहत की बातें…

Published

on

नई दिल्ली : क्या आप बीमार होना पसंद करते हैं,,,जी, बिल्कुल भी नहीं. हममें से कोई भी बीमार पड़ना नहीं चाहता है. अगर सर्दी-जुकाम भी हो जाए या फिर शरीर में कहीं भी जरा दर्द हो जाए तो हमें कितनी परेशानी होती है, इसका अंदाजा लगाया जा सकता है. और ऊपर से छोटी सी बीमारी में भी कितना खर्चा हो जाता है, सभी जानते हैं. पूरे महीने का बजट ही बिगड़ जाता है. इसलिए कहा जाता है कि सावधानी बरतें और दुर्घटना से बचें. ये भी सही है कि बीमारी को रोका भी नहीं जा सकता है. इसलिए बेहतर है कि खुद को हमेशा दुरुस्त रखें और एहतियात बरतें, ताकि बीमारियों से काफी हद तक बचा जा सके.

आज हमने अपना जीवन स्तर खुद ही इस तरह का कर लिया है कि हम बीमारियों को खुद ही निमंत्रण देने लगे हैं. खानपान, रहन-सहन, दिनचर्या, और जीवनशौली में आए बदलाव ने हर चलते-फिरते आदमी को एक बीमारी की दुकान बना दिया है. छोटे बच्चे से लेकर जवान तक को किसी ना किसी बीमारी से जूझते हुए देखा जा सकता है. इसलिए बेहतर होगा कि अपनी सेहत को लेकर भी हम हमेशा सचेत रहें. अपने आसपास ऐसा हेल्दी माहौल तैयार करें जिसमें बीमार होने की गुंजाइश कम से कम हो.

Image result for healthy zee news
हेल्दी खाना अच्छी सेहत के लिए बहुत जरूरी है

यहां हम कुछ ऐसी ही बातों पर चर्चा कर रहे हैं, जिन्हें अपना कर हम हेल्दी लाइफ जी सकते हैं-

साफ-सफाई का रखें ख्याल
बीमारी से बचने और उसे फैलने से रोकने का सबसे अच्छा तरीका है अपने हाथ धोना. भारत सरकार ने यूनिसेफ के साथ मिलकर हाथ धोने का अभियान भी चलाया हुआ है. गंदे हाथों पर कीटाणु होते हैं और जब हम गंदे हाथों से अपने शरीर के किसी हिस्से को साफ करते हैं तो तो सर्दी-ज़ुकाम और फ्लू जैसी बीमारियां आसानी से फैल जाती हैं. आसपास साफ-सफाई का ध्यान रखें. साफ-सफाई से निमोनिया और दस्त जैसी बीमारियों से बचा सकता है. यूनिसेफ के आंकड़े बताते हैं कि उल्टी-दस्त जैसी बीमारी से हर साल 5 वर्ष से कम उम्र के करीब 20 लाख बच्चों की मौत हो जाती है.

ऐसे मिलेगा पीठ दर्द से छुटकारा फोलो करें यह टिप्स, पढ़िए 2 मिनट में

कहीं भी बाहर से घर आने के बाद, खाना खाने से पहले, खाना बनाने से पहले, बाथरूम के इस्तेमाल के बाद हाथों को साबुन से अच्छी तरह से साफ करना चाहिए. हाथों की सफाई से हम छोटी-मोटी बीमारियों को काबू कर सकते हैं. घर और काम की जगह की साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखें. घर की रसोई और सोने का कमरा हवादार होना चाहिए.

‘इस जहां की नहीं हैं तुम्हारी आंखें’, बस 2 मिनट में जानें कैसें रखें इनका ख्याल

खान-पान पर दें ध्यान
हम जो खाते हैं उसका तो सेहत पर असर पड़ता ही है. इसलिए आप क्या और कितना खाते हैं, यह बहुत मायने रखता है. भूख लगने पर ही खाएं और पेट भर कर ना खाएं. पेट में थोड़ी जगह हवा-पानी के लिए भी रखें. अच्छी सेहत के लिए पौष्टिक खाना खाएं. ज्यादा नमक, चिकनाई और ज्यादा मीठा खाने से बचें. बाहर के खाने से भी परहेज करें. मौसम के मुताबिक, फल-सब्जियां खाएं. खाने की थाली में प्रोटीन, विटामिन आदि की भरपूर मात्रा होनी चाहिए. खुले में रखी खाने-पीने की चीजों से दूरी बनाएं. खाने में दूध, दही, सलाद, फलों का इस्तेमाल करें.

ऑफिस का काम कहीं छीन ना ले आपका चैन और आराम, बस 2 मिनट के लिए इधर दें ध्यान

योग और व्यायाम को दिनचर्या में शामिल करें
आज की जीवनशौली इस तरह की हो गई है जिसमें शरीर की मेहनत के काम लगभग खत्म हो गए हैं. विलासिता की चीजों के रोजाना अविष्कार हो रहे हैं. हमारे शरीर का ज्यादातर हिस्सा शायद ही रोजाना किसी काम में आता हो. इससे शरीर के जोड़ तथा नसों की बीमारियां तेजी से फैल रही हैं. लगातार बैठे रहने से पेट बीमारियों का घर बन रहा है. ऐसे में जरूरी है कि कुछ समय अपने शरीर के लिए निकाला जाए. योग और व्यायाम को अपने दैनिक जीवन में शामिल करें.

शरीर से इतना काम जरूर लें जिससे शरीर से पसीना निकले. पसीना बाहर आने से शरीर के अंदर के खराब तत्व बाहर निकलते हैं. खून का दौर बना रहता है. शरीर का हर हिस्सा काम करता है. अगर योग या कसरत नहीं कर पा रहे हैं तो कुछ समय कोई खेल के जरूर निकालें.

 

next

Follow me in social media
Continue Reading

स्वास्थ्य

गुजरात में लगातार छठी बार बनी बीजेपी की सरकार, विजय रूपानी बने सीएम और नितिन पटेल डिप्टी सीएम, ये बने मंत्री

Published

on

गांधीनगर: विजय रूपानी ने आज गांधीनगर सचिवालय मैदान में गुजरात के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। वहीं  नितिन पटेल ने भी उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली। शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अहमदाबाद पहुंच चुके हैं। ये भी पढ़ें- विजय रुपानी: रंगून से लेकर गुजरात के मुख्यमंत्री तक

लाइव अपडेट्स – बच्चू भाई खाबड़, जयद्रथ सिंह परमार,  ईश्वर पटेल, वसन अहीर, विभावरे दवे, रमण पाटकर, कुमार कनानी, पुरुषोत्तम सोलंकी, परबत पटेल ने मंत्री पद की शपथ ली।

– दिलीपकुमार वीरजी ठाकोर, ईश्वरभाई रमणभाई परमार और प्रदीपसिंह जडेजा ने मंत्री पद की शपथ ली।

View image on TwitterView image on TwitterView image on Twitter

Gandhinagar: Dilipkumar Viraji Thakor, Ishwarbhai Ramanbhai Parmar and Pradipsinh Jadeja take oath as ministers in Gujarat government

– सौरभ पटेल, गणपतसिंह वेस्ताभाई वसावा और जयेशभाई विठ्ठलभाई रादाडिया ने मंत्री पद की शपथ ली।

View image on TwitterView image on TwitterView image on Twitter

Gandhinagar: Saurabh Patel, Ganpatsinh Vestabhai Vasava and Jayeshbhai Vitthalbhai Radadiya take oath as ministers in Gujarat government

– आर सी फल्दू, भूपिंद्रसिंह चुडासमा और कौशिक पटेल ने मंत्री पद की शपथ ली।

View image on TwitterView image on TwitterView image on Twitter

Gandhinagar: RC Faldu, Bhupindrasinh Chudasama and Kaushik Patel take oath as ministers in Gujarat government

– नितिन पटेल लगातार दूसरी बार डिप्टी सीएम बने।

View image on TwitterView image on Twitter

Gandhinagar: Nitin Patel takes oath as deputy CM for second consecutive term

– विजय रूपानी ने गुजरात के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली।

– शपथग्रहण समारोह में सीनियर बीजेपी नेताओं के साथ-साथ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, छत्तीसगढ़ के सीएम रमन सिंह और राजस्थान की सीएम वसुंधरा राजे उपस्थित हैं।

 Uttar Pradesh CM Yogi Adityanath, Rajasthan CM Vasundhara Raje Scindia and Chhattisgarh CM Raman Singh at swearing-in ceremony of CM elect Vijay Rupani and others in Gandhinagar

PM Modi with former Gujarat CMs Keshubhai Patel and Shankersinh Vaghela at swearing-in ceremony of CM elect Vijay Rupani and others in Gandhinagar

 – गांधीनगर में पीएम मोदी शपथग्रहण समारोह स्थल पर पहुंचे… 

View image on TwitterView image on Twitter

Gandhinagar: Prime Minister Narendra Modi arrives for swearing in ceremony of CM elect Vijay Rupani and others

– शपथ ग्रहण समारोह स्थल पर विजय रूपानी..

 – भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, पीएम मोदी और गृह मंत्री राजनाथ सिंह शपथ ग्रहण समारोह स्थल पर पहुंचे। केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद, नितिन गडकरी, रामविलास पासवान भी समारोह स्थल पर पहुंच गए हैं। 

View image on TwitterView image on Twitter

Gandhinagar: Union Ministers Ravi Shankar Prasad, Nitin Gadkari, Rajnath
Singh and Ram Vilas Paswan & BJP President Amit Shah at swearing-in ceremony of CM elect Vijay Rupani

– सीएम विजय रूपानी, डिप्टी सीएम नितिन पटेल समेत 20 मंत्री शपथ लेंगे।

20 ministers including CM Vijay Rupani and Deputy CM Nitin Patel to take oath shortly 

– अहमदाबाद एयरपोर्ट से निकलने पर लोगों ने पीएम मोदी का स्वागत किया….

View image on TwitterView image on TwitterView image on Twitter

Prime Minister Narendra Modi waves to crowd gathered on his way from the airport in Ahmedabad

  शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अहमदाबाद पहुंचे।

 

View image on TwitterView image on Twitter

Prime Minister Narendra Modi reaches ‘s Ahmedabad, to attend swearing-in ceremony of CM elect Vijay Rupani and others

 

– शपथ ग्रहण समारोह पर जाने से पहले विजय रूपानी ने गांधीनगर में पंचदेव महादेव मंदिर में पूजा अर्चना की।

View image on TwitterView image on TwitterView image on TwitterView image on Twitter

Feeling blessed after offering prayers to Panchdev Mahadev Temple in Gandhinagar. Prayed for Gujarat’s welfare.

गुजरात भाजपा अध्यक्ष जीतू वाघानी के अनुसार इस समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री और बीजेपी के सहयोगी दलों के शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों के शामिल होने की संभावना है। शपथ ग्रहण समारोह में कई केंद्रीय मंत्रियों और पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेताओं के भी शामिल होने की उम्मीद है। वाघानी ने कहा, ‘हमने आशीर्वाद देने के लिए विभिन्न धर्मों के संतों और धार्मिक नेताओं को भी आमंत्रित किया है।’

भाजपा नेताओं ने शनिवार को राज्यपाल ओपी कोहली से मुलाकात की और सरकार बनाने के लिए दावा किया था। शुक्रवार को भाजपा केंद्रीय पर्यवेक्षक टीम ने गुजरात में मुख्यमंत्री पद पर संदेह खत्म करते हुए विजय रूपानी को राज्य का अगला मुख्यमंत्री और साथ ही नितिन पटेल को उपमुख्यमंत्री चुना था। नवनियुक्त विधायकों की बैठक में वित्त मंत्री अरुण जेटली की अध्यक्षता में हुई बैठक के बाद बीजेपी ने शुक्रवार को इसकी घोषणा की।

 

आनंदीबेन पटेल के मुख्यमंत्री के पद से हटने के बाद रूपानी को 7 अगस्त 2016 को गुजरात का मुख्यमंत्री बनाया गया था। रूपाणी का चयन 2019 लोकसभा चुनाव को देखते हुए किया गया है जो कि केवल 18 महीने दूर है। पार्टी किसी नए चेहरे को लाकर मौजूदा कार्य व विकास में अवरोध पैदा करने का जोखिम नहीं लेना चाहती। पार्टी के अंदरूनी सूत्रों ने बताया कि राज्य के 17 वें मुख्यमंत्री के तौर पर पार्टी के पास अन्य चेहरे भी थे जिसमें गुजरात का प्रतिनिधित्व कर रहे केंद्रीय मंत्री भी शामिल थे। लेकिन इन सबों पर लोकसभा चुनाव को देखते हुए ध्यान नहीं दिया गया। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के करीबी माने जाने वाले रूपाणी दूसरी बार राज्य के मुख्यमंत्री चुने गए हैं। भाजपा ने विधानसभा की 182 में से 99 सीटों पर जीत दर्ज की है।

 

रूपाणी का जन्म 2 अगस्त 1956 को रंगून (अब म्यांमार) में हुआ था। उन्होंने 1987 में राजकोट का मेयर बन सक्रिय राजनीति में प्रवेश किया। वह जनसंघ, राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ और भाजपा के साथ इसके उद्भव के समय से जुड़े रहे। जेपी आंदोलन में उन्होंने सौराष्ट्र अभियान का नेतृत्व किया और आपातकाल के दौरान जेल भी गए।

विजय रूपानी से जुड़ी और भी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Follow me in social media
Continue Reading

Facebook

NEWSLETTER

Trending