Connect with us

ज़रा हटके

बच्चों नहीं लंगूरों के साथ खेलता है 2 साल का समर्थ, साथ खाता है खाना..

Published

on

अल्लापुर (कर्नाटक): कर्नाटक के उत्तरी भाग के धारवाड़ जिले के गांव अल्लापुर का दो साल का समर्थ बंगारी बंदरों से अपने विशेष संबंध को लेकर आकर्षण का केंद्र बना हुआ है और उसे देखने के लिए पूरे राज्य से लोग यहां आ रहे हैं। समर्थ के माता-पिता सुनील व नंदा बंगारी खेती करते हैं। उन्होंने कुछ महीनों पहले पाया कि उनका छोटा लड़का घर के बाहर खुले मैदान में करीब एक दर्जन लंगूरों के साथ खेल रहा है। बच्चे के माता-पिता ने देखा कि वह लंगूरों के साथ खेलने के दौरान बहुत ही सहज था।

समर्थ के चाचा मल्लिकार्जुन रेड्डी ने कहा, ‘शुरुआत में हमें चिंता होती थी कि कहीं बंदर हमारे बच्चे को नुकसान ना पहुंचा दें। लेकिन, फिर हमें अहसास हुआ कि बंदर उसे पसंद करते हैं और उनको एक-दूसरे का साथ पसंद है।’ समर्थ का गांव राजधानी बेंगलुरु से उत्तर पश्चिम में 400 किमी दूर स्थित है। हर रोज समर्थ के घर के नजदीक के खेतों के लंगूर गांव में उसके घर के बाहर जमा हो जाते हैं। रेड्डी ने कहा, ‘हर रोज सुबह 6 बजे लगभग 20 बंदर घर के बाहर समर्थ के साथ खेलने के लिए जमा हो जाते हैं और वह बच्चे के सिवाय घर के किसी दूसरे सदस्य के करीब नहीं जाते।’

बंदरों के साथ ज्यादा समय बिताता है समर्थ
बंदर हर दिन दो बार, सुबह व शाम बच्चे को देखने के लिए आते हैं, बच्चा भी अपना खाना उन्हें खिलाता है। रेड्डी ने कहा कि कई दिन ऐसे होते हैं जब समर्थ अपने छह महीने के छोटे भाई के बजाय बंदरों के साथ ज्यादा समय बिताता है। बच्चे के मामा ने कहा कि बीते कुछ महीनों से लंगूर, समर्थ से मिलने आते हैं और उन्होंने एक बार भी उसे नुकसान नहीं पहुंचाया है। रेड्डी ने कहा, ‘गांव के लोग समर्थ के बंदरों के साथ संबंध को देखकर चकित हैं। उनका मानना है कि उस पर भगवान हनुमान का आशीर्वाद है।’

लंगूरों के लिए बनती हैं 100 रोटियां
उन्होंने कहा कि इस विशेष दोस्ती की बात फैलने के बाद से हर रोज राज्य भर से लोग समूहों में गांव में पहुंच रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘हमारे यहां आसपास के गांवों, हुबली, बेंगलुरु व दूसरे जिलों से लोग समर्थ के बंदरों से प्यार को देखने आ रहे हैं।’ बच्चे के जानवरों के प्रति लगाव के अहसास से अब परिवार भी बंदरों के लिए खाना बनाने लगा है। रेड्डी ने कहा, ‘हम हर रोज करीब 20 लंगूरों को खिलाने के लिए 100 रोटियां बनाते हैं।’ उन्होंने कहा कि परिवार इन बंदरों के बच्चे के साथ दोस्ताना व्यवहार को देखकर बहुत ही खुश है, जो आम तौर पर लोगों को नुकसान पहुंचाते हैं। रेड्डी ने कहा, ‘मेरा परिवार बच्चे व बंदरों की इस अनोखी दोस्ती के मशहूर होने से बहुत ही खुश है क्योंकि दूसरे जिलों से लोग इसे देखने आ रहे हैं।’

next

Follow me in social media
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ज़रा हटके

बाबा रामदेव को पसंद है रणवीर का काम, चाहते हैं बायोप‍िक में न‍िभाएं क‍िरदार…

Published

on

कुलदीप स‍िंह राघव/नई द‍िल्‍ली. बॉलीवुड एक्‍टर और प्रोड्यूसर अजय देवगन बाबा रामदेव के जीवन पर आधार‍ित शो बना रहे हैं। 12 फरवरी से शुरू होने वाले इस शो में बाबा रामदेव के संघर्ष की कहानी को एप‍िसोड्स के माध्‍यम से प्रदर्श‍ित क‍िया जाएगा। ड‍िस्‍कवरी जीत पर प्रसार‍ित होने वाले शो ‘स्‍वामी रामदेव एक संघर्ष’ का फर्स्‍ट लुक जारी कर द‍िया गया है।

इस शो के प्रमोशन और लॉन्‍च‍िंग ईवेंट के ल‍िए बाबा रामदेव द‍िल्‍ली पहुंचे थे। Times Now Hindi के साथ एक्‍सक्‍लूस‍िव इंटरव्‍यू में बाबा रामदेव ने अपने जीवन के संघर्ष की कहानी का तो ज‍िक्र क‍िया ही, साथ ही ये भी बताया कि वो क‍िस एक्‍टर को पसंद करते हैं। जब बाबा रामदेव से पूछा गया क‍ि आपके जीचन पर सीर‍ियल बन रहा है और अगर कोई डायरेक्‍टर आपकी बायोप‍िक बनाए, तो कैसा लगेगा। उन्‍होंने जवाब द‍िया क‍ि मेरे जीवन पर फ‍िल्‍म बने ये मेरी ल‍िए वाकई गर्व की बात होगी। मेरे जैसे फकीर के ल‍िए ये जीवन की बड़ी उपलब्‍ध‍ि होगी।

जब ये पूछा गया क‍ि सीर‍ियल में अभ‍िनेता क्रांत‍ि प्रकाश झा आपका क‍िरदार न‍िभा रहे हैं, लेक‍िन जब फ‍िल्‍म बनेगी तो आप क‍िस अभ‍िनेता को अपने किरदार में देखना चाहते हैं। इस सवाल के जवाब में बाबा ने कहा क‍ि सभी अभिनेता अच्‍छा अभ‍िनय करते हैं और मैं सभी को पसंद करता हूं। लेक‍िन अगर मेरे क‍िरदार की बात है, तो मुझे रणवीर स‍िंह का काम बहुत पसंद है मैं उनसे कई फंक्‍शंस में म‍िला हूं।

बाबा रामदेव की बायोप‍िक का First look आया सामने, ये एक्‍टर न‍िभाएगा लीड रोल

बता दें क‍ि अजय देवगन बाबा रामदेव के जीवन पर अभिनव शुक्ला के साथ शो प्रोड्यूस करने जा रहे हैं और कुशल जावेरी इसका निर्माण कर रहे हैं। शो ‘स्वामी रामदेव एक संघर्ष की कहानी’ में नमन जैन बाबा रामदेव के बचपन का किरदार निभाएंगे। वही नमन ज‍िन्‍होंने आनंद एल राय की फिल्म राँझना में छोटे धनुष का किरदार न‍िभाया था।

बालकृष्‍ण नहीं 30 साल के इस युवा ने बाबा रामदेव को बनाया ब‍िजनेस का सरताज

वहीं युवा रामदेव का क‍िरदार क्रांत‍ि प्रकाश झा न‍िभाएंगे। क्रांत‍ि प्रकाश झा डायरेक्‍टर नीरज पांडे की फ‍िल्‍म M.S. Dhoni: The Untold Story में भी नजर आ चुके हैं और उन्होंने धोनी के दोस्त के रूप में अहम भूमिका निभाई थी। क्रांति ने राम लीला, टैगोर की कहानियां व कई फिल्मों में अभिनय किया है। क्रांति बिहार से ताल्लुक रखते हैं। फर्स्‍ट लुक में क्रांत‍ि बाबा रामदेव के लुक में द‍िखाई दे रहे हैं।

बाबा रामदेव की बायोप‍िक नहीं, इस शो के ल‍िए बढ़ाई मोह‍ित रैना ने दाढ़ी, र‍िलीज हुआ टीजर

क्रांति ने बताया कि उनके लिए यह बेहद जरूरी था कि उन्हें रामदेव के साथ जाकर वक्त बिताना पड़ा।  मैंने ऑडिशन दिये थे। लेकिन मुझे काफी लंबे समय तक कोई रिस्पांस नहीं मिला था। लेकिन बाद में मेरा फिर से ऑडिशन लिया गया। इसके बाद मेरा लुक टेस्ट भी हुआ था। उस वक्त मुझे लगता है कि उन लोगों को मेरा लुक पसंद आ गया था।

फिर आगे की प्रक्रिया शुरू हुई। इस सीर‍ियल में बाबा रामदेव के बचपन, उनके योगगुरु बनने से लेकर ब‍िजनेस टॉयकून बनने तक की पूरी कहानी होगी। इस शो को बनाने के ल‍िए अजय देवगन की टीम बाबा रामदेव के बारे में जानकारी जुटा रही है, ताक‍ि तथ्‍य इधर उधर न हों।

Follow me in social media
Continue Reading

ज़रा हटके

इस लड़की को आती है दाढ़ी मूंछे, काटने की बजाय निकला ऐसा इलाज कि आप भी करेंगे सेल्यूट…

Published

on

इंसान अपने शरीर में छोटी से छोटी कमी कमी के लिए भी कितनी फ़िक्र करता है वो टेंसन में चला जाता है और सोचता है ये गलत है वो गलत है लेकिन अगर इन्सान बने ही हो तो उस कमी को भी अपनी खूबसूरत पहचान का नाम देना कोई हरनाम कौर से सीखे, हरनाम कौर नाम की लडकी जो इंग्लैंड में रहती है और उसे बचपन से ही एक अलग तरह का सिंड्रोम है जिसकी वजह से उनके बाल लगातार बिना किसी रोक टोक के बढ़ते चले जाते है।

ये बाल सिर्फ सर में बढ़ते होते तो कोई दिक्कत न थी लेकिन ये दाढी बनकर के मूंछ बनकर के सामने आते है तो सरदर्द ही होता है और कोई भी लडकी इससे डिप्रेशन में आ जायेगी लेकिन हकीकत में हरनाम ने ऐसा न किया उसने अपनी इस कमजोरी को ही अपनी ताकात बना लिया।

सबसे पहले तो हरनाम ने सिख धर्म अपनाया क्योंकि वो बचपन से सिख नही थी तो उसने सिख धर्म अपनाया और पग आदि पहनकर के एक लुक बनाया जिसमे वो काफी सुन्दर दिखती है और इसी लुक के साथ हरनाम ने मॉडलिंग शुरू कर दी, वो इंग्लैंड में इस तरह की सबसे अलग दिखने वाली इकलौती मॉडल है इस वजह से लोगो का उस पर ध्यान भी जाता है और आप यकीन नहीं मानेगे हरनाम इसमें बहुत ही उंचा नाम भी कमा चुकी है और पैसे के मामले में भी हरनाम ने काफी अच्छा मुकाम हासिल कर लिया है फिर तो जिन्दगी से किसी को और क्या चाहिए?

Source: Inextlive

ये सब कहने के बाद हरनाम का यही कहना है कि लडकियां हो या लडके वो अपनी शारीरिक दिक्कतों के चलते अपने आप को कमजोर न समझे बल्कि अपने आप को शक्तिशाली बना आगे बढे और वो सफलता प्राप्त करे जिसके वो असल में हकदार है।

Follow me in social media
Continue Reading

Facebook

NEWSLETTER

Trending