Connect with us

न्यूज़

पहले भी दहल चुकी है कश्मीर घाटी, जानें कब-कब हुए बड़े फिदायीन हमले…

Published

on

नई दिल्ली: शनिवार तड़के आतंकवादियों ने जम्मू के बाहरी इलाके सुंजावन में स्थित सेना के कैंप पर हमला कर दिया। इस हमले में दो सैनिक शहीद हो गए, जबकि सैन्यकर्मी की एक बेटी सहित 4 लोग घायल हो गए। लेकिन यह कोई पहला मौका नहीं है जब जम्मू-कश्मीर में आतंकियों ने कोई हमला किया है।

बीते कुछ सालों में जम्मू में कई बार आतंकियों ने फिदायीन हमला किया है। इन हमलों का हमारे सौनिकों ने जमकर जवाब दिया है, लेकिन इसमें आम नागरिक और सैनिक दोनों को ही जान गंवानी पड़ी है। आइए एक नजर डालते हैं बीते कुछ सालों में हुए बड़े फिदायीन हमलों पर…

जम्मू-कश्मीर में हुए फिदायीन हमले-

30 मार्च, 2002: जम्मू के रघुनाथ मंदिर में हुए आतंकी हमले में 11 लोगों की मौत हुई जबकि 20 लोग घायल हो गए।

14 मई, 2002: जम्मू के कालूचाक में आतंकियों ने सेना की छावनी पर हमला किया। इस हमले में 40 लोगों की मौत हुई जबकि 48 लोग घायल हुए। मरने वालों में ज्यादातर सैनिकों के परिवार के लोग शामिल थे।

22 जुलाई, 2003: अखनूर सेक्टर में टांडा रोड के पास आर्मी कैंप पर तीन फिदायीन आतंकियों ने हमला किया। इस हमले में एक ब्रिगेडियर समेत 8 जवान शहीद हो गए। जबकि हमले में चार शीर्ष जनरल, एक ब्रिगेडियर और दो कर्नल समेत 12 जवान घायल हो गए थे।

21 मार्च, 2015: सांबा सेना कैंप पर हमला करने आए दो फिदायीन आतंकियों को सेना ने मार गिराया। इस हमले में तीन लोगों की जान गई, जिसमें एक आम नागरिक, एक मेजर और एक जवान शामिल थे।

5 अगस्त, 2015: श्रीनगर हाईवे पर उधमपुर के नजदीक समरोली में आतंकियों के हमले में एक बीएसएफ जवान शहीद हो गया। इस घटना में सेना ने आतंकियों को मार गिराया।

29 नवंबर, 2016: जम्मू शहर के बाहरी इलाके नगरोटा में स्थित 16 कॉर्प मुख्यालय में तैनात 166 आर्मी यूनिट के परिसर में आतंकवादियों ने हमला किया। जिसमें 2 अधिकारी समेत 7 सैनिक शहीद हो गए।

गौरतलब है कि कश्मीर भारत का ऐसे क्षेत्र है जिसे लेकर विवाद आजादी के बाद से ही चल रहा है। पाकिस्तान कश्मीर को पाने के लिए किसी भी हद तक जाने को तैयार बैठा रहता है। दुनिया भर में मानवाधिकार का रोना रोने वाला पाकिस्तान, कश्मीर में दहशत फैलाने के लिए आए दिन कोई न कोई साजिश रचता रहता है।

Follow me in social media

न्यूज़

PNB Fraud: PNB को दूसरे बैंकों के पूरे 11,300 करोड़ चुकाने होंगे: RBI…

Published

on

नई दिल्ली: पूरे पीएनबी घोटाले में नया मोड़ आ चुका है। बैंकों के रेगुलेटर रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने कहा है कि पीएनबी को 30 बैंकों को 11,300 करोड़ रुपए देने होंगे। ईटी को मामले की जानकारी रखने वाले 2 बैंकर्स ने जानकारी दी है। अगर पंजाब नेशनल बैंक ने ऐसा नहीं किया तो पूरे बैकिंग सिस्टम पर संकट आ जाएगा। इस पूरे मामले पर रिजर्व बैंक ने दूसरे बैंकों के साथ बैठक की। बैठक में शामिल एक बैंकर ने बताया कि रिजर्व बैंक ने साफ कहा है कि पीएनबी को पूरी देनदारी चुकानी होगी। अगर पीएनबी पैसा नहीं देता है तो पीएनबी और 30 दूसरे बैंकों को दोगुनी प्रोविजनिंग करनी होगी। रिजर्व बैंक ने इस पूरे मामले में कोई जवाब नहीं दिया है।

PNB Fraud: PNB ने कहा सभी देनदारी चुकाएंगे, मोदी ने ईमेल से संपर्क किया

क्या कहा रिजर्व बैंक ने
– रिजर्व बैंक ने पीएनबी ने कहा की 30 बैंकों को 11,300 करोड़ रुपए देने होंगे
– रिजर्व बैंक को दूसरें बैंकों को पैसे देने होंगे
– कल कई बैंकों के सीईओ से रिजर्व बैंक की बैठक हुई
– पीएनबी बैंक वित्त मंत्रालय से मदद मांग रहा है
– रिजर्व बैंक का नियम है कि किसी कर्मचारी ने अवैध ट्रांजैक्शन किया तो बैंक को पैसा देना होगा
– अगर बैंक ने पैसा नहीं दिया तो 22 हजार करोड़ की प्रोविजनिंग करनी होगी

क्या है पूरा मामला
बैकिंग सिस्टम के इस बड़े फ्रॉड को नीरव मोदी और उनकी कंपनी ने पीएनबी से लेटर ऑफ अंडरटेकिंग से अंजाम दिया। ये लेटर ऑफ अंडर टेकिंग नीरव मोदी और उसके चाचा मेहुल चौकसी की कंपनी के आधार पर दिया गया था। ये एक तरह का क्रेडिट नोट था। इस लेटर को आधार बनाकर नीरव मोदी ने 30 बैंकों से 11300 करोड़ रुपए कर्ज लिया। ये फ्रॉड पीएनबी की मुंबई की ब्रेडी हाउस ब्रांच में चल रहा था। पीएनबी के मुताबिक दूसरी बैंकों ने भी रिजर्व बैंक के नियमों का उल्लघंन किया है।

पिछले महीने पता चला घोटाले का

11 हजार करोड़ के घोटाले में पीएनबी एक कॉन्फ्रैंस कर कहा कि उनको जनवरी के तीसरे हफ्ते में इस घोटाले का पता चला। PNB के एमडी और सीईओ सुनील मेहता ने कहा कि पीएनबी ने 29 जनवरी को हम सीबीआई के पास शिकायत की। उन्होंने कहा कि बैंक के 2 कर्मचारी ने 3 कंपनियों के साथ मिलकर ये फ्रॉड किया है। मेहता ने कहा कि ये घोटाला 2011 से चल रहा है। उनके मुताबिक बैंक की जो देनदारी बनती है वो उसको चुकाएंगे। इसके लिए वो दूसरे बैंकों से बात कर रहे हैं। इस पूरे मामले में नीरव मोदी आरोपी है। उन्होंने कहा कि नीरव मोदी ने बैंक से कहा कि कर्ज चुकाने के लिए तैयार है। मेहता ने कहा कि हमने नीरव मोदी को पैसे चुकाने का प्लान बनाकर देने के लिए कहा है।

Follow me in social media
Continue Reading

न्यूज़

सात वर्षीय बच्ची से रेप, पाकिस्तानी कोर्ट ने 4 दिन में सुनाई फांसी की सजा…

Published

on

लाहौर : पाकिस्तान की एक आतंकवाद निरोधी अदालत ने सात वर्षीय बच्ची से बलात्कार और उसकी हत्या के मामले में शनिवार को एक सीरियल किलर को मौत की सजा सुनाई। देश के इतिहास में यह पहला मौका है जब महज चार दिन में मामले की सुनवाई पूरी कर ली गई।

कड़ी सुरक्षा के बीच कोट लखपत जेल में एटीसी जज सज्जाद हुसैन ने सजा सुनाई। उन्होंने 23 वर्षीय इमरान अली को बच्ची के अपहरण, नाबालिग से बलात्कार, बच्ची की हत्या और अव्यस्क से अप्राकृतिक कृत्य करने का दोषी पाते हुए मौत की सजा मुकर्रर की।

इमरान को नाबालिग के शव को क्षत विक्षत करने के मामले में सात वर्ष की सजा के साथ दस लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया गया। इस नृशंस वारदात की पूरे देश में घोर भर्त्सना हुई थी और लोगों में आक्रोश के भाव देखने को मिले थे।

Follow me in social media
Continue Reading

Facebook

NEWSLETTER

Trending