Connect with us

न्यूज़

अमेरिका ने हमास मुखिया इस्माईल को आतंकियों की लिस्ट में डाला….

Published

on

वॉशिंगटन: अमेरिका ने फिलीस्तीनी संगठन हमास के प्रमुख इस्माईल हनिया को आतंकवादियों की सूची में डाल दिया और उन पर प्रतिबंध लगा दिए. इस कदम से तनाव बढ़ सकता है. अमेरिकी विदेश विभाग ने एक बयान में कहा, ‘‘हनिया का हमास की सैन्य इकाई के साथ नजदीकी संबंध है और वह आम लोगों के संघर्ष सहित सशस्त्र संघर्ष के समर्थक रहे हैं.’’ उसने कहा, ‘‘वह इजरायली नागरिकों के खिलाफ हिंसा में कथित तौर पर शामिल रहे हैं. आतंकवादी हमलों में 17 अमेरिकी नागरिकों के मारे जाने के लिए हमास जिम्मेदार है.’’ अमेरिका के इस कदम से तनाव बढ़ सकता है. हाल ही में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने यरूशलम को इजरायली राजधानी के तौर पर मान्यता देने की घोषणा की थी.

पूर्वी यरूशलम के आसपास इजरायली सेना बनाएगी एकीकृत कमान
वहीं दूसरी ओर इजरायली सेना ने कहा है कि पूर्वी यरूशलम के आसपास के फलस्तीनी इलाकों में वह एक एकीकृत कमान बना रही है. यह कदम 2015 से, इस इलाके से होने वाले हमलों की संख्या बढ़ने के मद्देनजर उठाया जा रहा है. सेना की वेबसाइट ने बीते 29 जनवरी को बताया, ‘‘इसका लक्ष्य एक क्षेत्रीय ब्रिगेड बनाना है जो आतंकवाद विरोधी गतिविधियों में समन्वय करेगी.’’

इसमें बताया गया है कि सेना, इजरायली पुलिस और शिन बेट सुरक्षा एजेंसी अगले दो साल तक तीन तरफ से शहर को घेरने वाले इस्राइली बैरियर के साथ समन्वय मजबूत करने के लिए काम करेंगे. वेबसाइट के मुताबिक, इसके बाद बैरियर के ठीक पूर्व में वेस्ट बैंक गांवों में एक एकीकृत सैन्य ब्रिगेड तैनात की जाएगी.

यरूशलम ही होगी इस्राइल की राजधानी: प्रधानमंत्री नेतन्याहू
इससे पहले  इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने बीते 26 जनवरी तो दावोस में कहा कि किसी भी समझौते में यरूशलम ही उनके देश की राजधानी रखनी होगी क्योंकि पिछले 3000 वर्ष से भी ज्यादा समय के इतिहास में उसका यही स्थान रहा है. इजरायली प्रधानमंत्री ने कहा कि वह फलस्तीन के साथ शांति के लिए नयी पहल करने को तैयार हैं बशर्ते फलस्तीनी ‘बातचीत’ से पीछे न हटें.

तालिबान से वार्ता नहीं, उसका खात्मा करेंगे : ट्रंप
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने तालिबान को समाप्त करने की बचनबद्धता पर जोर देते हुए उसके साथ किसी तरह की वार्ता की संभावना से इनकार किया है. ट्रंप ने बीते सोमवार (29 जनवरी) को व्हाइट हाउस में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के सदस्यों को बताया, “तालिबान निर्दोष लोगों को मार रहा है. बच्चों पर बमबारी की जा रही है, परिवारों पर बमबारी की जा रही है, पूरे अफगानिस्तान में बमबारी की जा रही है.”

उन्होंने कहा, “इसलिए तालिबान से कोई बातचीत नहीं होगी. हम तालिबान से बात नहीं करना चाहते. जो काम हमें करना है, हम उसे पूरा करने जा रहे हैं. जिस काम को कोई नहीं पूरा कर पाया, हम उसे पूरा करने जा रहे हैं.” काबुल में तालिबान द्वारा हाल ही में किए गए हमलों में कम से कम 125 लोगों की मौत हो चुकी है, जो ट्रंप प्रशासन के लिए एक सीधी चुनौती है.

Follow me in social media
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

न्यूज़

PNB Fraud: PNB को दूसरे बैंकों के पूरे 11,300 करोड़ चुकाने होंगे: RBI…

Published

on

नई दिल्ली: पूरे पीएनबी घोटाले में नया मोड़ आ चुका है। बैंकों के रेगुलेटर रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने कहा है कि पीएनबी को 30 बैंकों को 11,300 करोड़ रुपए देने होंगे। ईटी को मामले की जानकारी रखने वाले 2 बैंकर्स ने जानकारी दी है। अगर पंजाब नेशनल बैंक ने ऐसा नहीं किया तो पूरे बैकिंग सिस्टम पर संकट आ जाएगा। इस पूरे मामले पर रिजर्व बैंक ने दूसरे बैंकों के साथ बैठक की। बैठक में शामिल एक बैंकर ने बताया कि रिजर्व बैंक ने साफ कहा है कि पीएनबी को पूरी देनदारी चुकानी होगी। अगर पीएनबी पैसा नहीं देता है तो पीएनबी और 30 दूसरे बैंकों को दोगुनी प्रोविजनिंग करनी होगी। रिजर्व बैंक ने इस पूरे मामले में कोई जवाब नहीं दिया है।

PNB Fraud: PNB ने कहा सभी देनदारी चुकाएंगे, मोदी ने ईमेल से संपर्क किया

क्या कहा रिजर्व बैंक ने
– रिजर्व बैंक ने पीएनबी ने कहा की 30 बैंकों को 11,300 करोड़ रुपए देने होंगे
– रिजर्व बैंक को दूसरें बैंकों को पैसे देने होंगे
– कल कई बैंकों के सीईओ से रिजर्व बैंक की बैठक हुई
– पीएनबी बैंक वित्त मंत्रालय से मदद मांग रहा है
– रिजर्व बैंक का नियम है कि किसी कर्मचारी ने अवैध ट्रांजैक्शन किया तो बैंक को पैसा देना होगा
– अगर बैंक ने पैसा नहीं दिया तो 22 हजार करोड़ की प्रोविजनिंग करनी होगी

क्या है पूरा मामला
बैकिंग सिस्टम के इस बड़े फ्रॉड को नीरव मोदी और उनकी कंपनी ने पीएनबी से लेटर ऑफ अंडरटेकिंग से अंजाम दिया। ये लेटर ऑफ अंडर टेकिंग नीरव मोदी और उसके चाचा मेहुल चौकसी की कंपनी के आधार पर दिया गया था। ये एक तरह का क्रेडिट नोट था। इस लेटर को आधार बनाकर नीरव मोदी ने 30 बैंकों से 11300 करोड़ रुपए कर्ज लिया। ये फ्रॉड पीएनबी की मुंबई की ब्रेडी हाउस ब्रांच में चल रहा था। पीएनबी के मुताबिक दूसरी बैंकों ने भी रिजर्व बैंक के नियमों का उल्लघंन किया है।

पिछले महीने पता चला घोटाले का

11 हजार करोड़ के घोटाले में पीएनबी एक कॉन्फ्रैंस कर कहा कि उनको जनवरी के तीसरे हफ्ते में इस घोटाले का पता चला। PNB के एमडी और सीईओ सुनील मेहता ने कहा कि पीएनबी ने 29 जनवरी को हम सीबीआई के पास शिकायत की। उन्होंने कहा कि बैंक के 2 कर्मचारी ने 3 कंपनियों के साथ मिलकर ये फ्रॉड किया है। मेहता ने कहा कि ये घोटाला 2011 से चल रहा है। उनके मुताबिक बैंक की जो देनदारी बनती है वो उसको चुकाएंगे। इसके लिए वो दूसरे बैंकों से बात कर रहे हैं। इस पूरे मामले में नीरव मोदी आरोपी है। उन्होंने कहा कि नीरव मोदी ने बैंक से कहा कि कर्ज चुकाने के लिए तैयार है। मेहता ने कहा कि हमने नीरव मोदी को पैसे चुकाने का प्लान बनाकर देने के लिए कहा है।

Follow me in social media
Continue Reading

न्यूज़

सात वर्षीय बच्ची से रेप, पाकिस्तानी कोर्ट ने 4 दिन में सुनाई फांसी की सजा…

Published

on

लाहौर : पाकिस्तान की एक आतंकवाद निरोधी अदालत ने सात वर्षीय बच्ची से बलात्कार और उसकी हत्या के मामले में शनिवार को एक सीरियल किलर को मौत की सजा सुनाई। देश के इतिहास में यह पहला मौका है जब महज चार दिन में मामले की सुनवाई पूरी कर ली गई।

कड़ी सुरक्षा के बीच कोट लखपत जेल में एटीसी जज सज्जाद हुसैन ने सजा सुनाई। उन्होंने 23 वर्षीय इमरान अली को बच्ची के अपहरण, नाबालिग से बलात्कार, बच्ची की हत्या और अव्यस्क से अप्राकृतिक कृत्य करने का दोषी पाते हुए मौत की सजा मुकर्रर की।

इमरान को नाबालिग के शव को क्षत विक्षत करने के मामले में सात वर्ष की सजा के साथ दस लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया गया। इस नृशंस वारदात की पूरे देश में घोर भर्त्सना हुई थी और लोगों में आक्रोश के भाव देखने को मिले थे।

Follow me in social media
Continue Reading

Facebook

NEWSLETTER

Trending